खोजी पत्रकारिता के लिए चर्चित कोबरा पोस्ट ने कुछ दिनों पहले देश के कुछ मीडिया घरानों का एक स्टिंग ऑपरेशन किया था, जिसमें बताया गया था कि अखबार और टीवी चैनल धर्म और संप्रदाय की राजनीति करने वाले संगठनों से किस तरह पैसे लेकर सांप्रदायिक तनाव और नफरत फैलाने वाली खबरें प्रकाशित-प्रसारित करते हैं। इन मीडिया समूहों में दैनिक भास्कर समूह भी शामिल था, जो अपने को देश का सबसे बडा मीडिया समूह बताता है। इस समूह के मालिकों ने इस स्टिंग को दिखाने से रोकने के लिए दिल्ली हाई कोर्ट की शरण ली थी। अदालत ने उसकी याचिका स्वीकार करते हुए स्टिंग को दिखाने पर अगले आदेश तक रोक लगा दी थी। अब चूंकि अदालत ने यह रोक हटा ली है तो कोबरा पोस्ट ने अदालत के आदेश को प्रकाशित करते हुए भास्कर समूह के स्टिंग का वीडियो जारी कर दिया है। इस स्टिंग में भास्कर समूह के उप प्रबंध संचालक पवन अग्रवाल तथा आला दर्जे के कई मुलाजिम फंसे हैं। कोबरा पोस्ट का यह स्टिंग ऑपरेशन भारत के प्रिंट और इलेक्ट्रानिक मीडिया का बेहद भद्दा और अश्लील चेहरा उजागर करता है। देखिए इस स्टिंग ऑपरेशन का वीडियो..