कोरोना विषाणु का कहर ऐसा है कि मानो सभी शक्तिशाली देश मृतप्राय हो गए। मक्का से वेटिकन सिटी तक बोधगया मंदिर से शिर्डी, सिद्धिविनायक तक सर्वत्र ‘सन्नाटा’ पसरा है। इंसान पर आनेवाले हर संकट के समय सबसे पहले ईश्वर मैदान छोड़कर भागते हैं। कोरोना के कारण धर्म, ईश्वर सभी निरुपयोगी हो गए हैं।